अति सुधो सनेह को मारग है मो अँसुवानिहिं लै बरसौ Hindi 2023

अति सुधो सनेह को मारग

दोस्तों आपको इस पेज में क्लास 10th हिंदी गोधूलि भाग 2 का पद खांड का चैप्टर अति सुधो सनेह को मारग है मो अँसुवानिहिं लै बरसौ   ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर दिया गया है तथाअति सुधो सनेह को मारग है मो अँसुवानिहिं लै बरसौ का मॉडल पेपर भी यहां वेबसाइट पर आपको मिल जाएगा अति सुधो सनेह को मारग है मो अँसुवानिहिं लै बरसौ Subjective Question 2023

1.’प्रेम की पीर’ के कवि हैं
(A) गुरुनानक
(B) रसखान
(C) घनानंद
(D) प्रेमघन


2. ‘मो० अँसुवानिहिं लै बरसौ’ के कवि हैं
(A) घनानंद
(B) भारतेन्दु
(C) रसखान
(D) प्रेमघन


3. तुम कौन-सी पारी पढ़े हाँ कहाँ मन लेहु पै देहु छटाँक नहीं पंक्ति किस. कविता की है?
(A) मेरे बिना तुम प्रभु
(B) प्रेम-अयनि श्री राधिका
(C) अति सुधो सनेह को मारग है
(D) मो अँसुवानिहिं लै बरसौ


4. घनानंद की भाषा क्या है?
(A) अवधी
(B) ब्रजभाषा
(C) प्राकृत
(D) पाली


5. घनानंद का जन्म कब हुआ था?
(A) 1669 ई० के आस-पास
(B) 1679 ई० के आस-पास
(C) 1689 ई० के आस-पास
(D) 1699 ई० के आस-पास


6. घनानंद किस युग के कवि हैं?
(A) आदिकाल
(B) भक्तिकाल
(C) रीतिकाल
(D) आधुनिक


7. घनानंद की रचना है
(A) सुजान रसखान
(B) प्रेमवाटिका
(C) जपुजी
(D) सुजानसागर


8. घनानंद किस मुगल बादशाह के यहाँ मीर मुंशी का काम करते थे?
(A) जहाँगीर
(B) शाहजहाँ
(C) औरंगजेब
(D) मोहम्मद शाह रंगीले


9. कवि ने ‘परजन्य’ किसे कहा है?
(A) कृष्ण
(B) सुजान
(C) बादल
(D) हवा


10. घनानंद कवि हैं
(A) रीतिमुक्त
(B) रीतिबद्ध
(C) रीतिसिद्ध
(D) छायावादी


11. ‘अति सूधो सनेह को मारग है, जहाँ नेकु सयानप बाँक नहीं।’ यह पंक्ति किस कवि की है?
(A) गुरुनानक
(B) प्रेमघन
(C) रसखान
(D) घनानंद


12. आचार्य शुक्ल ने किसके संबंध में कहा है कि”प्रेम मार्ग का ऐसा प्रवीण और धीर पथिक तथा जवादा का ऐसा दावा रखने वाला ब्रजभाषा का दूसरा कवि नहीं हुआ।”
(A) रसखान
(B) भारतेन्दु
(C) घनानंद
(D) प्रेमघन


13. घनानंद के प्रमुख ग्रंथ है—
(A) सुजानसागर
(B) विरहलीला
(C) रसकेलि बल्ली
(D) उपर्युक्त सभी


14. नादिरशाह के सैनिकों द्वारा घनानंद कब मारे गये?
(A) 1689
(B) 1699
(C) 1729
(D) 1739


15. घनानंद के अनुसार कौन-सा मार्ग अति सीधा और सरल है?
(A) पुष्टि मार्ग
(B) स्नेह मार्ग
(C) भक्ति मार्ग
(D) निश्छल मार्ग


16. सुजानसागर किनकी रचना है?
(A) रसखान
(B) दिनकर
(C) घनानंद
(D) पंत


17. घनानंद किनके सैनिकों द्वारा मारे गये थे?
(A) मोहम्मद शाह रंगीले
(B) औरंगजेब
(C) मो० गौरी
(D) नादिरशाह


18. घनानंद की कविता में किसकी गहरी व्यंजना है?
(A) प्रेम की पीड़ा
(B) मस्ती
(C) वियोग
(D) उपर्युक्त सभी


19. नादिरशाह के सैनिकों ने किसे मार डाला?
(A) गुरुनानक को
(B) घनानंद को
(C) रसखान को
(D) तुलसी को


20. ‘मो ॲसुनानिहि लै बरसौ’ कौन कहते हैं?
(A) रसखान
(B) गुरु नानक
(C) घनानंद
(D) दिनकर


21. ‘विरहलीला’ किसकी रचना है?
(A) रसखान
(B) कबीर
(C) घनानंद
(D) प्रेमघन


22. ‘घनआनंद’ जीवनदायक हौ कछू मेरियौ पीर हिएँ परसौ। प्रस्तुत पंक्ति में किस कवि का नाम आया
है?
(A) प्रेमघन
(B) घनानंद
(C) घनश्याम
(D) बिहारी लाल


23. ‘रसकेलि बल्ली’ किसकी रचना है?
(A) कबीर
(B) जायसी
(C) जीवनानंद दास
(D) घनानंद


24. घनानंद के संबंध में किसने कहा कि “प्रेम मार्ग का ऐसा प्रवीण और धीर पथिक तथा जबादानी
का ऐसा रखने वाला ब्रजभाषा का दूसरा कवि नहीं हुआ है। “?
(A) रामविलास शर्मा
(B) नामवर सिंह
(C) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
(D) हजारी प्रसाद द्विवेदी


25. कवि के अनुसार परहित के लिए देह कौन धारण करता है?
(A) अमृत
(B) मेघ
(C) घनानंद
(D) सुजान


26. कवि अपने आँसुओं को कहाँ पहुँचाना चाहता है

(A) भगवान के पास
(B) मेघों के पास
(C) अपनी प्रेमिका सुजान के पास
(D) इनमें से कोई नहीं


27.’मो ॲसुवानिहिं लै बरसौ’ के कवि हैं
(A) रसखान
(B) प्रेमघन
(C) पंत
(D) घनानंद


28. रीतिमुक्त काव्यधारा के सिरमौर कवि हैं
(A) दिनकर
(B) कबीर
(C) पंत
(D) घनानंद


29. किस कविता में घनानंद प्रेम के सीधे, सरल और निच्छल मार्ग की प्रस्तावना करता है?
(A) अति सूधो स्नेह को मारग है
(B) मो ॲसुवानिहिं लै बरसौ
(C) करील के कुंजन ऊपर वारौं
(D) प्रेम अयनि श्री राधिका


30. ‘कुंजन’ का अर्थ है
(A) कंवल
(B) तालाब
(C) बगीचा
(D) इन्द्र


31. वियोग में सच्चा प्रेमी जो वेदना सहता है, उसके चित्त में जो विभिन्न तरंगें उठती हैं -का चित्रण किया है
(A) घनानंद ने
(B) अनामिका ने
(C) रेनर मारिया मिल्के ने
(D) वीरेन डंगवाल ने


 

Leave a Comment

error: Content is protected !!