रोजगार एवं सेवाएं का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Rojagaar evan Sevaen ka Ithaas Subjective Question Answer )

रोजगार एवं सेवाएं का सब्जेक्टिव

दोस्तों मैट्रिक परीक्षा 2023 का तैयारी करना चाहते है तो यहाँ पर (Social Science) सामाजिक विज्ञान का क्वेश्चन आंसर दिया गया है जिसमें अर्थशास्त्र (Economics) का रोजगार एवं सेवाएं का सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Rojagaar evan Sevaen ka Ithaas Subjective Question Answer ) दिया गया है तथा सामाजिक विज्ञान का मॉडल पेपर ( Social Science Model Paper 2023 ) भी दिया गया है और आपको सोशल साइंस का ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर रोजगार एवं सेवाएं ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Rojagaar evan Sevaen Objective Question Answer ) आपको इस वेबसाइट पर आसानी से मिल जाएगा।

 रोजगार एवं सेवाएं

⇔बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान उड़ीसा आर्थिक रूप से पिछड़े हैं इसलिए इन्हें बीमारू
भी कहा जाता है।
मानव पूंजी के पांच प्रमुख घटक हैं भोजन, वस्त्र, आवास, स्वास्थ्य और शिक्षा |
सेवा क्षेत्र का सकल घरेलू उत्पादन में 55.1% योगदान है।

⇔४ मानव की न्यूनतम आवश्यकता रोटी, कपड़ा और मकान है।
⇔रोजगार एवं सेवा एक दूसरे के पूरक होते हैं।
⇔विश्व की दो-तिहाई भूभाग गरीबी और विपत्रता से ग्रसित है
⇔बिहार वर्षों तक गरीबी और बेरोजगारी का केंद्र रहा है ।
⇔सैन्य सेवा, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा सेवा एवं बैंकिंग सेवा
यातायात सेवाएं, मॉल सेवा, कोचिंग सेवा इत्यादि गैर सरकारी सेवा हैं |
⇔नरेगा या मूतरेगा विश्व की सबसे बड़ी योजना मानी जाती है ।
भारत विश्व का अग्रणी युवा वाला देश कहा जाता है |
● सूचना प्रौद्योगिकी केंद्र बेंगलुरु में है ।
आर्थिक मंदी का भारत पर कम प्रभाव पड़ा |
अति लघु उत्तरीय प्रश्न 
प्रश्न-1- Out Sourcing किसे कहते हैं?
उत्तर- जब बहुराष्ट्रीय कंपनियां या अन्य कंपनियां संबंधित नियमित सेवाएं स्वयं अपनी कंपनियों की बजाय किसी तो बाहरी उसे या विदेशी स्रोत, संस्थान कहा जाता या समूह है । से प्राप्त करती है Out Sourcing  दूसरे शब्दों में, आउटसोर्सिंग उस प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें एक कंपनी अपने किसी आंतरिक कार्य के लिए करवाती दूसरी कंपनी के साथ समझौता करके उससे वह काम है ।


Q.2- सरकारी सेवा किसे कहते हैं ?
उत्तर जब देश या राज्य की सरकार लोगों को काम के बदले मासिक वेतन देती है. तो इसे सरकारी सेवा कहा जाता है। जैसे- सैन्य सेवा, वायुसेना की सेवा सरकारी शिक्षक की सेवा इत्यादि |


प्रश्न-3- गैर सरकारी सेवा किसे कहते हैं?
उत्तर- ऐसा सेवा जिसके अंतर्गत गैर सरकारी संस्थाएँ या कोई व्यक्ति लोगों को काम के बदले मासिक वेतन देती है और इसके बदले में उनसे विभिन्न क्षेत्रों में काम लेती है उसे गैर सरकारी सेवा कहाँ जाता है । गैर सरकारी सेवा के कुछ उदाहरण है- बैंकिंग सेवाएं, दूरसंचार सेवाएं, यातायात सेवाएं । स्वस्थ्य सेवाएं आदि ।


Q .4-आधारभूत संरचना किसे कहते हैं ?
उत्तर- प्रत्येक रूप से आर्थिक आधारभूत संरचना से उत्पादन एवं लोगों की खुशहा वृद्धि होती है। आर्थिक विकास के सभी क्षेत्रों में इनका प्रत्येक संबंध होता है जैसे- वित्तीय, ऊर्जा, यातायात, संचार इत्यादि |


प्रश्न-5- रोजगार एवं सेवा में क्या संबंध है?
उत्तर- रोजगार एवं सेवा में घनिष्ठ संबंध है । यह एक दूसरे
पर आश्रित है । रोजगार से प्राप्त धन को जब पूंजी के रूप में उत्पादन
के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश किया जाता है तो सेवा क्षेत्र का विस्तार होता है जिससे रोजगार के अवसर में वृद्धि होता है ।इस प्रकार रोजगार में वृद्धि होने से सेवा क्षेत्र का विस्तार होता है अर्शत वह दोनों एक दूसरे के पूरक


प्रश्न-6- आर्थिक संरचना का क्या महत्व है?
उत्तर- आर्थिक संरचनाओं का महत्व-किसी भी अर्थव्यवस्था के विकास में आर्थिक संरचना जैसे- बैंकिंग, अस्पताल, संचार, यातायात, ऊर्जा आदि का महत्वपूर्ण योगदान होता है । आर्थिक संरचना प्रत्यक्ष रूप से उत्पादन एवं लोगों की खुशहाली में वृद्धि करती है । आर्थिक विकास दे सभी क्षेत्रों से इसका प्रत्यक्ष संबंध होता है ।


प्रश्न-7- मंदी का असर भारत में क्या पड़ा ।
उत्तर- भारत का आधारभूत संरचना कमजोर होने के बावजूद भी वर्तमान मंदी का असर कम पड़ा क्योंकि यहां इंजीनियर की पूँजी बाजार आज काफी भी Out मजबूत Sourcing अवस्था में है । यहाँ के में लगे हुए है । खासकर भारत के बंगलोर जैसे शहर का सूचना प्रौद्योगिकी विश्व के अग्रणी सूचना-प्रौद्योगिकी की श्रेणी में आ गया है 


दीर्घ उत्तरीय प्रश्न 

प्रश्न-1- सेवा क्षेत्र पर संक्षिप्त लेख लिखें ।
उत्तर- सेवा क्षेत्र अर्थव्यवस्था का वह क्षेत्र है जिसके अंतर्गत
मानव विभिन्न प्रकार के रोजगार करते है । ये क्षेत्र है-
परिवहन, संचार, कृषि, बैंकिंग आदि ।वर्तमान समय में भारत का सेवा क्षेत्र बहुत विकसित नहीं है लेकिन फिर भी आज सकल घरेलू उत्पाद में सेवा क्षेत्र का सबसे अधिक योगदान रहता है ।(सेवा क्षेत्र को दो भागों में बांटा गया है ।
(i) सरकारी सेवा क्षेत्र- ऐसा सेवा क्षेत्र जिसके अंतर्गत देश
व राज्य की सरकार लोगों को काम के बदले मासिक वेतन
देती है और इसके बदले में उनसे विभिन्न क्षेत्रों में काम लेती
तो उसे सरकारी सेवा क्षेत्र कहाँ जाता है । सरकारी सेवा
क्षेत्र के कुछ उदाहरण है- सैन्य सेवा, शिक्षा सेवा, स्वास्थ्य
सेवा, अभियंत्रण सेवा, वित्त सेवा एवं बैंकिंग सेवा आदि ।

(ii) गैर सरकारी सेवा क्षेत्र-ऐसा सेवा क्षेत्र जिसके अंतर्गत
गैर सरकारी संस्थाएँ या कोई व्यक्ति लोगों को काम के
बदले मासिक वेतन देती है और इसके बदले में उनसे
विभिन्न क्षेत्रों में काम लेती है तो इसे गैर सरकारी सेवा क्षेत्र
कहाँ जाता है । गैर सरकारी सेवा क्षेत्र के कुछ उदाहरण है
बैंकिंग सेवाएं, दूरसंचार सेवाएं, यातायात सेवाएं, स्वास्थ्य


प्रश्न-2- सेवा क्षेत्र में सरकारी प्रयास के रूप में क्या किए गए
हैं । वर्णन करें ।
उत्तर- सेवा क्षेत्र में सरकारी प्रयास- राष्ट्रीय स्तर पर
सरकार के द्वारा रोजगार सृजन करने के लिए अनेक
कार्यक्रम चलाए गए हैं अथवा चलाए जा रहे हैं जो
निम्नलिखित है ।
(i) काम के बदले अनाज ।

(ii) राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम ।
(iii) ग्रामीण युवा स्वरोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रम
(iv) ग्रामीण भूमिहीन रोजगार गारंटी कार्यक्रम
(v) समेकित ग्रामीण विकास कार्यक्रम ।
(vi) जवाहर रोजगार योजना ।
(vii) स्वयं सहायता समह ।

(viii) मनरेगा, इत्यादि ।
ऊपर दिए गए कार्यक्रमों के माध्यम से सरकार
द्वारा देश के बेरोजगारी की समस्याओं को दूर करने का
प्रयास किया जा रहा है । ग्रामीण रोजगार के क्षेत्र में रोजगार
उपलब्ध कराने के लिए मनरेगा विश्व की सबसे बड़ी योजना
है । अब इसे देश के प्रत्येक जिला में लागू कर दिया गया है


प्रश्न-3- गैर सरकारी संस्था किस प्रकार सेवा क्षेत्र के विकास को सहयोग करता है उदाहरण देकर लिखें ।
उत्तर- कुछ सेवा क्षेत्र इतना बड़ा है कि सरकार इसे अकेला चलाने में सक्षम नहीं है ऐसे सेवा क्षेत्रों को चलाने के लिए सरकार गैर सरकारी संस्थाओं का सहायता लेती है । ऐसे में, गैर सरकारी संस्थाएँ सरकार के विभिन्न कार्यक्रमों को चलाते है और रोजगार का सृजन कर सेवा क्षेत्र के विकास में सहयोग करते है । इसके अंतर्गत आने वाले प्रमुख क्षेत्र है बैंकिंग सेवा, दूरसंचार सेवा, यातायात सेवा आदि । इस प्रकार की सेवाएं रोजगार सृजन करती है ।
सेवा क्षेत्र में कुछ रोजगार गैर सरकारी संस्थाओं के
स्वयं के प्रयासों से सृजन होता है इसके अंतर्गत ब्यूटी पार्लर बस सेवाएं, बैंकिंग सेवाएँ आदि आता है ।
इस प्रकार गैर सरकारी संस्थाएं विभिन्न कार्यक्रमों
को चलाकर सेवा क्षेत्र के विकास में सहयोग करता है 


प्रश्न-4- वर्तमान आर्थिक मंदी का प्रभाव भारत के सेवा क्षेत्र पर क्या पड़ा लिखें ।
उत्तर- आर्थिक मंदी का प्रभाव अधिकांश भागों अथवा देशों के सेवा क्षेत्र पर अधिक पड़ा लेकिन भारत एक कृषि प्रधान देश होने के कारण यहाँ के सेवा क्षेत्र पर वर्तमान मंदी का प्रभाव कम पड़ा । भारत का पूँजी बाजार काफी मजबूत अनुस्था में है तथा यहाँ के इंजीनियर आज भी दूसरे देशों में अपने आप को लोहा मनवा रहा है । भारत के बेंगलोर जैसे शहर का
सूचना-प्रौद्योगिकी विश्व के अग्रणी सूचना-प्रौद्योगिकी की श्रेणी में आ गया है । इन सभी कारणों से भी मंदी का बुरा प्रभाव भारत के सेवा क्षेत्र पर कम पड़ा ।लेकिन कुछ ऐसे क्षेत्र भी है जहाँ आर्थिक मंदी से सेवा क्षेत्र काफी प्रभावित हुआ है । उत्पादकों को उचित मूल्य नहीं मिल पा रहा था । जिस के कारण उत्पादन की प्रक्रिया को बंद करना पड़ा और ऐसे सेवा क्षेत्र में लगे कर्मचारियों की छटनी करना पड़ा ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!