Parampara ka Mulyankan Subbjective Question Answer

Parampara ka Mulyankan Subbjective Question

 : दोस्तों यहां पर आपको मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए हिंदी गोधूलि भाग 2 का परंपरा का मूल्यांकन पाठ का महत्वपूर्ण ऑब्जेक्टिव प्रश्न दिया हुआ है जो क्लास 10th बोर्ड परीक्षा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है Parampara ka Mulyankan Subjective

लेखक परिचय – इस पाठ के लेखक डॉ रामविलास शर्मा का जन्म 10 अक्टूबर 1912 को
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में हुआ था | आपको “निराला की साहित्य साधना” पुस्तक पर साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला है। उनका निधन ३० मई 2000 ई० को निधन हुआ |
आप की प्रमुख रचनाएं -भारतेंदु हरिश्चंद्र प्रेमचंद्र और उनका युग, भाषा और समाज, भारत की भाषा समस्या, विराम चिन्ह एवं बड़े भाई आदि हैं।


1) परंपरा का ज्ञान किन के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक है और क्यों ?
उत्तर – जो लोग साहित्य में युग परिवर्तन करना चाहते हैं, क्रांतिकारी साहित्य लिखना चाहते हैं उनके लिए साहित्य की परंपरा का ज्ञान होना अति आवश्यक है ।


2) भारत की बहुजातीयता मुख्यतः संस्कृति और इतिहास की देन है। कैसे?
उत्तर:-लेखक रामविलास शर्मा के अनुसार भारत में बहुजातीयता भारत की संस्कृति और इतिहास की देन है । हमारी संस्कृति महाभारत और रामायण जैसे साहित्य से जुड़ी है, जो एकता स्थापित करते हैं। हमारे इतिहास में कई ऐसी घटनाएं हैं जिससे लोगों में बहुजातीयता का बोध होता है।
Note- इस अध्याय के यही दोनों प्रश्न Exam में ज्यादा पूछे जाते हैं । 2023

Leave a Comment

error: Content is protected !!