प्रकाश का परावर्तन तथा अपवर्तन Prakash ka Pravartan Tatha Apvartan Subjective Question Answer 2023

Prakash ka Pravartan Tatha Apvartan

दोस्तों यहां पर  बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2023 कक्षा 10th विज्ञान का सब्जेक्टिव प्रश्न उत्तर (Class 10th Science Question Answer) दिया गया है तो अगर आप लोग मैट्रिक परीक्षा 2023 की तैयारी कर रहे हैं तो क्लास 10th प्रकाश के परावर्तन तथा अपवर्तन का लघु उत्तरीय प्रश्न ( Prakash ka Pravartan Tatha Apvartan ka Laghu Uttareey Question Answer ) यहां पर दिया गया है जोकि आने वाले परीक्षा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, तथा यहां पर क्लास 10th विज्ञान का मॉडल पेपर(Class 10th Science Model Paper)  तथा यहां पर क्लास 10th विज्ञान का ऑनलाइन टेस्ट (Class 10th Science Online Test) भी इस वेबसाइट पर मिल जाएगा, अगर आप लोग प्रकाश का परावर्तन तथा अपवर्तन का ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन भी पढ़ना चाहते हैं तो लिंक पर क्लिक करके इसे आप लोग पढ़ सकते हैं धन्यवाद-

प्रकाश का परावर्तन ( 2 अंक स्तरीय प्रश्न )

1.प्रकाश क्या है ?

उत्तर प्रकाश एक अनुप्रस्थ विद्युत चुंबकीय तरंग है जो हमें दृष्टि संवेदना देती है प्रकाश हमेशा सीधी रेखा में गमन करती है यह ऊर्जा का एक रूप है |


2. किरण पुंज किसे कहते हैं ? यह कितने प्रकार के होते हैं ?
उत्तरप्रकाश हमेशा समूह में चलती है जिसे किरण पुंज या प्रकाश पुंज कहा जाता है प्रकाश पुंज को फोटोन भी कहा जाता है |

यह मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं
(i) अपसारी किरणपुंज
(ii) समांतर किरणपुंज
(iii) अभिसारी किरणपुंज

(i) अपसारी किरणपुंज:- ऐसा किरण पुंज जो एक बिंदु से निकलकर विभिन्न दिशाओं में फैलती है अब सारी किरण पुंज कहलाती है जैसे:-बल्ब या लैंप किसी प्रकाश स्रोत से निकलने वाला प्रकाश
(ii) समांतर किरणपुंज:- ऐसा किरण पुंज जिसका किरण आपस में कभी नहीं मिलती है समांतर किरण पुंज का कहलाती है जैसे:-सूर्य से आने वाला किरण पुंज
(iii) अभिसारी किरणपुंज:- ऐसा किरण पुंज जिसके किरण किसी एक बिंदु पर आकर मिलती है अभिसारी किरण पुंज कहलाती है |


3. प्रकाश का परावर्तन किसे कहते हैं ?
उत्तर जब कोई प्रकाश किरण किसी माध्यम से चलकर किसी चिकनी सतह या दर्पण से टकराने के बाद पुनः उसी माध्यम में लौट जाती है तो उसे प्रकाश का परावर्तन कहते हैं|

संक्षेप में प्रकाश के किसी वस्तु से टकराकर वापस लौटने को प्रकाश का परावर्तन करते हैं|


4. प्रकाश के परावर्तन के नियमों को लिखें
उत्तर प्रकाश के परावर्तन के दो नियम है-
(i) आपतित किरण परावर्तित किरण तथा आपतन बिंदु पर डाला गया लंब तीनों एक ही तल पर होते हैं |
(ii) आपतन कोण,परावर्तन कोण के बराबर होता है |


5. प्रतिबिंब किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं
उत्तरजब कोई प्रकाश किरण किसी वस्तु या बिंब से चलकर किसी दर्पण या लेंस से परावर्तन या अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर कटती है या कटती हुई प्रतीत होती है उसे उस बिंदु का प्रतिबिंब कहलाती है|
दो प्रकार के होते हैं-
(i) वास्तविक प्रतिबिंब
(ii) आभासी या काल्पनिक प्रतिबिंब


6. समतल दर्पण द्वारा बना प्रतिबिंब की विशेषता को लिखे
उत्तर समतल दर्पण द्वारा बनने वाले प्रतिबिंब की विशेषता निम्नलिखित है-
(i) प्रतिबिंब का आकार वस्तु के आकार के बराबर होता है|
(ii) प्रतिबिंब दर्पण से पीछे बनता है|
(iii) प्रतिबिंब का पासर्व परिवर्तन उल्टा होता है|
(iv) प्रतिदिन उतने ही पीछे बनता है जितना की वस्तु आगे होती है|


7. गोलीय दर्पण किसे कहते हैं? यह कितने प्रकार के होते हैं?
उत्तर ऐसा दर्पण जिसका परावर्तक सतह गोलीय हो,गोलीय दर्पण कहलाता है |गोलीय दर्पण खोखले गोले का काट होता है |
यह मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं
(i) अवतल दर्पण
(ii) उत्तल दर्पण


8. अवतल दर्पण किसे कहते हैं? इनके उपयोग को लिखें |
उत्तर ऐसा गोलीय दर्पण जिसका उभरे हुए तल पर पोलिस कर दबे हुए तल से प्रकाश का परावर्तन किया जाए,अवतल दर्पण कहलाता है |
इसका उपयोग मुख्यत दाढ़ी बनाने में, टॉर्च, वाहनों के हेड लाइट, सर्च लाइट में एवं डॉक्टरों के द्वारा रोगी के नाक, कान ,गले, दातों की जांच करने एवं सौर भट्टी में किया जाता है |


9. उत्तल दर्पण किसे कहते हैं ?इनके उपयोग को भी लिखें?
उत्तर ऐसा गोलीय दर्पण जिसका दबे हुए ताल पर पॉलिश कर,उभरे हुए तल से प्रकाश का परावर्तन किया जाए उत्तल दर्पण कहलाता है|


10. उत्तल दर्पण और अवतल दर्पण में अंतर लिखें

उत्तर ⇒ अवतल एवं उत्तल दर्पणों में निम्नलिखित अंतर है।

अवतल दर्पण : उत्तल दर्पण :
(I). इसका परावर्तक सतह अन्दर की ओर धसा होता है। (I). इसका परावर्तक सतह बाहर की ओर उठा (उभरा) होता है।
(II). इसका फोकस सामने और फोकस दूरी ऋणात्मक होता है। (II). इसका फोकस पीछे और फोकस दूरी धनात्मक होती है।
(III). यह वस्तु का वास्तविक और काल्पनिक दोनों प्रकार का प्रतिबिंब बनाता है। (III). यह वस्तु का केवल काल्पनिक प्रतिबिंब बनाता है।

 


11. आवर्धन किसे कहते हैं?
उत्तरप्रतिबिंब की ऊंचाई और वस्तु की ऊंचाई के अनुपात को आवर्धन कहा जाता है यह मात्रक विहीन राशि है |


12. गोलीय दर्पण की फोकस दूरी और उसकी वक्रता त्रिज्या में क्या संबंध है ?
उत्तर गोलीय दर्पण की फोकस दूरी उसकी वक्रता त्रिज्या की आधी होती है |
                                       यानी , F=R/2


13.मुख्य अक्ष से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ गोलीय दर्पण के ध्रुव (P) से वक्रता-केन्द्र (C) को मिलने वाली  रेखा को दर्पण का प्रधान या मुख्य अक्ष कहते हैं।


14. कोई अवतल दर्पण अपने सामने 10 cm दूरी पर रखे किसी बिंब का तीन गुणा आवर्द्धित (बड़ा) वास्तविक प्रतिबिंब बनाता है। प्रतिबिंब दर्पण से कितनी दूरी पर है ?

उत्तर ⇒ आवर्द्धन, m = -3 (∴ प्रतिबिम्ब वास्तविक है।)
बिंब की दूरी, u = -10 cm
प्रतिबिंब की दूरी, y = ?

कोई अवतल दर्पण अपने सामने 10 cm दूरी पर रखे किसी बिंब का तीन गुणा आवर्द्धित (बड़ा) वास्तविक प्रतिबिंब बनाता है। प्रतिबिंब दर्पण से कितनी दूरी पर है ?

अतः प्रतिबिंब दर्पण के आगे 30 cm की दूरी पर स्थित होगा।


15. एक आदमी का चेहरा 24 cm लंबा है और 20 cm चौड़ा है। उसके पूरे चेहरे को देखने के लिए दर्पण कम-से-कम किस आकार का होना चाहिए ?

उत्तर ⇒दर्पण का आकार वस्तु के वास्तविक आकार से आधा अवश्य होना चाहिए ताकि वह पूरा दिखाई दे सके।

∴ दर्पण की लंबाई = 24/2 = 12 cm
दर्पण की चौड़ाई = 20/2 = 10 cm


प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर

16. उस अवतल दर्पण की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी वक्रता त्रिज्या 32 cm है।

उत्तर ⇒ वक्रता त्रिज्या, r = -32 cm है।
उस अवतल दर्पण की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी वक्रता त्रिज्या 32 cm है।

अतः फोकस दूरी = 16 cm


17. एक अवतल दर्पण के सामने 27 cm की दूरी पर रखी वस्तु का प्रतिबिम्ब दर्पण से 54 cm पर उसी ओर बनता है जिस ओर वस्तु है, तो दर्पण से प्राप्त आवर्द्धन कितना होगा ?

उत्तर ⇒ u = – 27 cm, v = – 54cm
एक अवतल दर्पण के सामने 27 cm की दूरी पर रखी वस्तु का प्रतिबिम्ब दर्पण से 54 cm पर उसी ओर बनता है जिस ओर वस्तु है, तो दर्पण से प्राप्त आवर्द्धन कितना होगा ?


18. एक गोलीय दर्पण की वक्रता त्रिज्या 20 cm है। इसकी फोकस दूरी क्या होगी ?

उत्तर ⇒R= 20 cm, f = ?
फोकस दूरी, एक गोलीय दर्पण की वक्रता त्रिज्या 20 cm है। इसकी फोकस दूरी क्या होगी ?


19. एक आदमी समतल दर्पण के सामने से 2 m/s वेग से दूर जा रहा है। वह समतल दर्पण में अपने प्रतिबिंब से कितने वेग से दूर हट रहा है ?

उत्तर ⇒ आदमी का वेग = 2 m/s उसका प्रतिबिंब उल्टे दिशा में उसी वेग से दूर जा रहा है।
अतः प्रतिबिंब का सापेक्षिक वेग
= [2 – (-2) ] m/s = 2 + 2 = 4 m/s


20. अवतल एवं उत्तल दर्पण के फोकस एवं फोकस-दूरी में क्या अंतर है ?

उत्तर ⇒अवतल दर्पण का फोकस वास्तविक और फोकस दूरी ऋणात्मक होता है जबकि उत्तल दर्पण का फोकस काल्पनिक एवं फोकस-दूरी धनात्मक होता है।


21. एक समतल दर्पण द्वारा उत्पन्न आवर्द्धन +1 है। इसका क्या अर्थ है ?

उत्तर ⇒m = +1 दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब, बिम्ब के साइज के बराबर है। m का धनात्मक चिन्ह दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब आभासी तथा सीधा है।


22. दर्पण का द्वाराक किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒ किसी दर्पण की कुल लंबाई को द्वारक कहा जाता है | इसे A द्वारा सूचित किया जाता है |


23. छाया किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒ जब किसी अपारदर्शी वस्तु से प्रकाश टकराती है तब उस वस्तु के पीछे एक काली धुंधली आकृति बनती है, जिसे छाया कहलाता है | छाया बनने के लिए यह आवश्यक है कि वस्तु पर पूरी तरह से प्रकाश पड़े |


24. 15 cm फोकस दूरी के किसी उत्तल दर्पण से कोई बिम्ब 10 cm के दूरी पर रखा है। प्रतिबिंब की स्थिति तथा प्रकृति ज्ञात कीजिए।

उत्तर ⇒ बिंब की दर्पण से दूरी, u = -10 cm, f = 15 cm
प्रतिबिंब की दर्पण से दूरी v = ?

15 cm फोकस दूरी के किसी उत्तल दर्पण से कोई बिम्ब 10 cm के दूरी पर रखा है। प्रतिबिंब की स्थिति तथा प्रकृति ज्ञात कीजिए।

धनात्मक चिन्ह यह दर्शाता है कि प्रतिबिम्ब दर्पण के पीछे होगा और यह प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा तथा छोटा बनेगा।


कक्षा-10 विज्ञान (भौतिकी विज्ञान) पाठ-01 प्रकाश के परावर्तन तथा अपवर्तन सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर 2023


25. पार्श्व परिवर्तन किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒ जब हम अपना प्रतिबिब समतल दर्पण में देखते ,तो हमारा दायाँ हाथ प्रतिबिंब में बाएं  हाथ में दिखाई देता है । पार्श्व परिवर्तन कहते हैं


26. हजामत बनाने के लिए किस तरह के दर्पण का प्रयोग किया जाता है और क्यों ?

उत्तर ⇒हजामत बनाने के लिए अवतल दर्पण का प्रयोग किया जाता है। क्योंकि जब चेहरा अवतल दर्पण के ध्रुव (P) तथा फोकस (F) के बीच होता है तो दर्पण में चेहरे का बड़ा, सीधी तथा आभासी प्रतिबिंब बनता है।


27. प्रकाश की प्रकृति की विशेषताएँ लिखिए।

उत्तर ⇒प्रकाश की प्रकृति की विशेषताएँ निम्न हैं।

(i). प्रकाश निर्वात में भी गमन कर सकता है।
(ii). इसकी चाल माध्यम की प्रकृति पर आधारित होती है।
(iii). प्रकाश विधुत चुम्बकीय विकिरण है।


28. उत्तल दर्पण को साइड मिरर के रूप में क्यों उपयोग किया जाता है ?

उत्तर ⇒उत्तल दर्पण को साइड मिरर के रूप में प्रयोग किया जाता है क्योंकि वे किसी वस्तु का हमेशा सीधा प्रतिबिम्ब बनाता है, यद्यपि वह छोटा होता है इसका दृष्टि क्षेत्र काफी बड़ा होता है। क्योंकि ये बाहर की ओर वक्रित होता है।


29. हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च-दृश्य दर्पण के रूप में वरीयता क्यों देते हैं ?

उत्तर ⇒ हम वाहनों में उत्तल दर्पण को पश्च-दृश्य दर्पण के रूप में वरीयता देते हैं क्योंकि ये सदैव सीधा व आभासी प्रतिबिंब बनाते हैं। इनका दृष्टि क्षेत्र भी बहुत अधिक होता है जिससे ड्राइवर अपने पीछे के बहुत बड़े क्षेत्र को देखने में समर्थ होता है।


30. अवतल दर्पण को अभिसारी दर्पण एवं उत्तल दर्पण का अपसारी दर्पण कहते हैं। क्यों ?

उत्तर ⇒मुख्य-अक्ष के समांतर एवं निकट आपतित किरणों को अवतल दर्पण एक बिंदु पर अभिसारित करता है जबकि उत्तल दर्पण उसे एक बिंदु से अपसरित करता है। इसीलिए अवतल दर्पण को अभिसारी और उत्तल दर्पण का अपसारी दर्पण कहते हैं।


31. वास्तविक और काल्पनिक (आभासी) प्रतिबिंब को परिभाषित करें ?

उत्तर ⇒ वास्तविक प्रतिबिंब : किसी वस्तु से आती हुई प्रकाश की किरणें परावर्तन या अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर वास्तव में मिलते हैं, उसे उस वस्तु का वास्तविक प्रतिबिंब कहते हैं।

काल्पनिक (आभासी) प्रतिबिंब : किसी वस्तु से आती हुई प्रकाश की किरणें परावर्तन या अपवर्तन के बाद जिस बिंदु से आती हुई मालूम पड़ती है, उसे उस वस्तु का काल्पनिक या आभासी प्रतिबिंब कहते हैं।


32. वास्तविक और काल्पनिक प्रतिबिंब में अन्तर स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर ⇒वास्तविक और काल्पनिक प्रतिबिंब में निम्न अन्तर हैं –

वास्तविक प्रतिबिंब : काल्पनिक प्रतिबिंब:
(I). यह वास्तविक किरणों के मिलने से बनता है। (I). यह काल्पनिक किरणों के मिलने से बनता है।
(II). यह हमेशा वस्तु की अपेक्षा उल्टा होता है। (II). यह हमेशा वस्तु की अपेक्षा सीधा होता है।
(III). इसे पर्दे पर प्राप्त किया जा सकता है। (III). इसे पर्दे पर प्राप्त नहीं किया जा सकता है।


33. अवतल दर्पण द्वारा किसी वस्तु का काल्पनिक और आवर्धित प्रतिबिंब कब बनता है? किरण आरेख द्वारा दर्शाएँ।

उत्तर ⇒ यदि वस्तु को अवतल दर्पण के ध्रुव एवं फोकस-बिंदु के बीच रखा जाए, तो बना प्रतिबिंब आभासी एवं आवर्धित होगा।

चित्र में वस्तु AB की स्थिति ध्रुव P एवं फोकस बिंदु F के बीच हैं, जिसका आर्वर्धित, आभासी एवं सीधा प्रतिबिंब A’B‘ बना हैं।


34. प्रधान फोकस और फोकस मं क्या अंतर है ?

उत्तर ⇒प्रधान फोकस दर्पण के प्रधान-अक्ष पर रहता है, जबकि प्रकाश की समांतर किरणें दर्पण से परावर्तित होने के बाद जिस बिंदु पर फोकसित होती है, उसे फोकस कहते हैं। अत: यह आवश्यक नहीं है कि फोकस दर्पण के प्रधान-अक्ष पर ही हो।


35. अवतल, उत्तल एवं समतल दर्पण के दो-दो उपयोगों को लिखिए ?

उत्तर ⇒अवतल दर्पण के दो उपयोग –
(i) दाढ़ी बनाने में
(ii) डॉक्टरी जाँच में

उत्तल दर्पण के दो उपयोग –
(i) साइड मिरर के रूप में
(ii) सड़क बत्ती के परावर्तक सतह में

समतल दर्पण के दो उपयोग –
(i) सोलर कुकर के परावर्तक सतह
(ii) ऐनक के रूप में


36. जब अवतल दर्पण का उपयोग (i) हजामती दर्पण के रूप में तथा (ii) डॉक्टर के दर्पण के रूप में किया जाता है, तो वस्तु की स्थिति क्या होनी चाहिए ?

उत्तर ⇒ (i) फोकस और ध्रुव के बीच में। (ii) फोकस पर।


प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन सब्जेक्टिव लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर

37. गोलीय दर्पण के ध्रुव और वक्रता-केन्द्र को परिभाषित करें ?

उत्तर ⇒ध्रुव-गोलीय दर्पण के ज्यामितीय केन्द्र को दर्पण का ध्रुव कहते हैं।

वक्रता-केन्द्र :गोलीय दर्पण जिस खोखले गोले का भाग होता है, उस गोले के केन्द्र को दर्पण वक्रता-केन्द्र कहते हैं।


38. गोलीय दर्पण के मुख्य फोकस या फोकस किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒मुख्य-अक्ष के समांतर एवं निकट आपतित किरण दर्पण से परावर्तन के बाद मुख्य-अक्ष के जिस बिंदु पर अभिसरित होती है या जिस बिंदु से आती हुई प्रतीत होती है, उस बिंदु को गोलीय दर्पण का फोकस कहते हैं।


39. गोलीय दर्पण की फोकस-दूरी और वक्रता-त्रिज्या किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒फोकस-दूरी :गोलीय दर्पण के ध्रुव और फोकस के बीच की दूरी को फोकस-दरी कहते हैं।

वक्रता-त्रिज्या : गोलीय दर्पण के ध्रुव और वक्रता-केन्द्र के बीच की दूरी को वक्रता-त्रिज्या कहते हैं।


प्रकाश का अपवर्तन ( 2 अंक स्तरीय प्रश्न )

1.प्रकाश का अपवर्तन किसे कहते हैं?
उत्तर:जब प्रकाश एक माध्यम से दूसरे माध्यम में प्रवेश करती है तो प्रकाश के दिशा में हुई परिवर्तन को प्रकाश का अपवर्तन कहा जाता है |
2.प्रकाश के अपवर्तन के नियम को लिखे?
उत्तरप्रकाश के अपवर्तन के दो नियम होते हैं
(i) आपतीत किरण, अपवर्तन किरण तथा आपतन बिंदु पर डाला गया लंब तीनों एक ही तल होते हैं |
(ii) किसी खास दो माध्यम के लिए आपतन कोण की जया (Sine) और अपवर्तन कोण (Sinr) की जाए का अनुपात स्थिर रहता है इसे स्नेल का नियम कहते हैं |
3. लेंस या ताल किसे कहते हैं?
उत्तरदो सतह से घिरा हुआ किसी पारदर्शी पदार्थ का ऐसा टुकड़ा जिसका एक सतह कम से कम वक्र हो लेंस या ताल कहलाता है |

लेंस दो प्रकार के होते हैं-
(i)उत्तल लेंस
(ii) अवतल लेंस

उत्तल लेंस किनारों की अपेक्षा बीच में मोटा होता है |
यह किसी वस्तु का प्रतिबिंब वास्तविक,उल्टा एवं छोटा बनता है|
उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस भी कहा जाता है

अवतल लेंस :- किनारों की अपेक्षा बीच में पतला होता है|
यह किसी वस्तु का प्रतिबिंब वास्तविक,उल्टा बड़ा बनता है |
अवतल लेंस को अपसारी लेंस भी कहा जाता है|
4. उत्तल लेंस और अवतल लेंस में अंतर लिखें-
उत्तर⇒अवतल लेंस तथा उत्तल लेंस में अंतर निम्नलिखित है

अवतल लेंस उत्तल लेंस
(i) यह बीच में पतला तथा किनारे पर मोटा होता है | (i) यह बीच में मोटा तथा किनारे पर पतला होता है|
(ii) यह प्रकाश किरणों को प्रसारित या फैला देती है | (ii) यह प्रकाश किरणों को अभिसरित या जमा कर देती है|
(iii) इसका फोकस काल्पनिक तथा ऋणत्मक होता है | (iii) इसका फोकस वास्तविक तथा धनात्मक होता है

5. किसी लेंस की 1 डाइऑप्टर क्षमता को परिभाषित कीजिए।

उत्तर ⇒1 डाइऑप्टर :अगर किसी लेंस की फोकस दूरी 1 मीटर हो तब लेंस की क्षमता 1 डाइऑप्टर कहलाती है।


6. 2 m फोकस दूरी वाले किसी अवतल लेंस की क्षमता ज्ञात कीजिए।

उत्तर ⇒ f = -2 m (अवतल लेंस की फोकस दूरी)

लेंस की क्षमता P, 2 m फोकस दूरी वाले किसी अवतल लेंस की क्षमता ज्ञात कीजिए।


7. घनत्व के दृष्टिकोण से माध्यम कितने प्रकार के होते हैं ?

उत्तर ⇒ घनत्व के दृष्टिकोण से माध्यम दो प्रकार के होते हैं।
I. विरल माध्यम :कम घनत्व वाले माध्यम को ‘विरल माध्यम’ कहते हैं। जैसे- हवा।
II. सघन माध्यम :अधिक घनत्व वाले माध्यम को ‘सघन माध्यम’ कहते हैं। जैसे- काँच, पानी आदि।


8. वायुमंडलीय अपवर्तन का सूर्योदय और सूर्यास्त पर क्या प्रभाव है ?

उत्तर ⇒वायुमंडलीय अपवर्तन के कारण सूर्य वास्तव में उदय होने से 2 मिनट पहले दिखाई देता है और सूर्यास्त के 2 मिनट बाद तक दिखाई देता है।


9. प्रकाश के किस रंग का विचलन सबसे कम तथा किस रंग का विचलन सबसे अधिक होता है ?

उत्तर ⇒प्रकाश के लाल रंग का विचलन सबसे कम और बैंगनी रंग का विचलन सबसे अधिक होता है।


प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन के प्रश्न उत्तर pdf

10. अपवर्तनांक किसे कहते हैं? इसका व्यंजक एवं मात्रक लिखिए ?

उत्तर ⇒किन्हीं दो माध्यमों के लिए आपतन कोण की ज्या तथा अपवर्तन कोण की ज्या के अनुपात को अपवर्तनांक कहते हैं।
                            अपवर्ननांक (μ)=Sini/sinr
अपवर्तनांक का मात्रक नहीं होता है क्योंकि यह दो समान राशियों का अनुपात है।


11. इंद्रधनुष क्या होता है? यह कब दिखाई देता है ?

उत्तर ⇒

इंद्रधनुष बरसात के मौसम में उत्पन्न होने वाला एक प्राकृतिक स्पेक्ट्रम है, वायुमंडल में मौजूद जल कनों के द्वारा श्वेत प्रकाश के वर्ण विक्षेपण के द्वारा बनता है |

जब श्वेत प्रकाश वायुमंडल में मौजूद जल बूंदों में आपतित होती है तो उनका अपवर्तन इस प्रकार होता है कि किरणों का पूर्ण आंतरिक परावर्तन हो जाता है, जिसके कारण सूर्य के विपरीत दिशा में चाप के रूप में इंद्रधनुष का निर्माण होता है |


12. आवर्धन किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒ प्रतिबिंब की ऊँचाई और वस्तु की ऊँचाई के अनुपात को आवर्धन कहते हैं। इसे m द्वारा दर्शाया जाता है।

आवर्धन किसे कहते हैं ?


13. किसी उत्तल लेंस का आधा भाग काले कागज से ढक दिया गया है। क्या यह लेंस किसी बिंब का पूरा प्रतिबिंब बना पाएगा ? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर ⇒हाँ, यह लेन्स किसी बिम्ब का पूरा प्रतिबिम्ब बनायेगा लेकिन प्रतिबिम्ब की तीव्रता घट जाएगी क्योंकि किरणों की संख्या कम हो जाती है।


14. लेंस की क्षमता (शक्ति) क्या है ? इसका S.I. मात्रक लिखें।

उत्तर ⇒ किसी लेंस द्वारा प्रकाश किरणों को मोड़ने की क्षमता लेंस की क्षमता कहलाती है | लेंस की क्षमता को P द्वारा सूचित किया जाता है |

लेंस की फोकस दूरी के व्युत्क्रम को लेंस की क्षमता कहते हैं, जहाँ फोकस दूरी मीटर में होता है। 

गणितीय रूप में,
                    लेंस की क्षमता (P) = 1/फोकस-दूरी
P=1/f(m)
लेंस की छमता का एस आई मात्रक प्रति मीटर(m-1) होता है| लेंस की क्षमता का प्रचलित S.I. मात्रक डाइऑप्टर (D) होता है।


15. पानी में डूबी हुई लकड़ी मुड़ी हुई प्रतीत होता है। क्यों ?

उत्तर ⇒जब पानी में लकड़ी का एक सीधा टुकड़ा डुबोया जाता है तो प्रकाश के अपवर्तन के कारण वह मुड़ा हुआ प्रतीत होता है। जैसे ही प्रकाश की किरणें सघन माध्यम से विरल माध्यम में आती हैं वैसे ही वे लम्ब से परे मुड़ जाती हैं जिस कारण लकड़ी का टुकड़ा मुड़ा हुआ प्रतीत होता है।


16. प्रकाश के अपवर्तन से क्या तात्पर्य है ?

उत्तर ⇒जब प्रकाश की किरण एक माध्यम से दूसरे माध्यम में प्रवेश करता है, तो वह अपने पथ से थोड़ा विचलित हो जाता है। इस घटना को प्रकाश का अपवर्तन कहते हैं।


17. प्रकाश के अपवर्तन से संबंधिक स्नेल का नियम लिखिए ?

उत्तर ⇒प्रकाश के अपवर्तन के दूसरे नियम को स्नेल का नियम कहते हैं। इसके अनुसार किन्हीं दो माध्यमों और प्रकाश के किसी विशेष रंग के लिए आपतन कोण की ज्या और अपवर्तन कोण की ज्या का अनुपात एक नियतांक होता है।

                                            अर्थात,sini/sinr = एक नियतांक


18. अपवर्तनांक की परिभाषा दें ?

उत्तर ⇒किसी माध्यम का अपवर्तनांक शून्य में प्रकाश की चाल और उस माध्यम में प्रकाश की चाल के अनुपात को कहते हैं। अर्थात् किसी माध्यम का अपवर्तनांक
अपवर्तनांक की परिभाषा दें ?

प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन के प्रश्न उत्तर pdf


19. प्रकाश के अपवर्तन का क्या कारण है ?

उत्तर ⇒ भिन्न-भिन्न पारदर्शी माध्यमों में प्रकाश के किसी खास रंग का वेग भिन्न-भिन्न होता है। सघन माध्यम में वेग घटने के कारण प्रकाश की किरण अभिलंब की ओर मुड़ जाती है और विरल माध्यम में वेग बढ़ने के कारण प्रकाश की किरण अभिलंब से दूर हो जाती है। इन्हीं कारणों से प्रकाश का अपवर्तन होता है।


20. लेंस का द्वारक किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒किसी गोलीय लेंस की वृत्ताकार रूपरेखा का प्रभावी व्यास को उस गोलीय लेंस का द्वारक कहते हैं।


21. पूर्ण आंतरिक परावर्तन को स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर ⇒ जब क्रांतिक कोण से कम कोण पर प्रकाश सघन माध्यम से विरल माध्यम में आपतीत होती है तो प्रकाश अपवर्तक ना होकर पुनः उसी माध्यम में परावर्तित हो जाती है जिसे पूर्ण आंतरिक परावर्तन कहा जाता है |


22. कोई डॉक्टर +1.5 D क्षमता का संशोधक लेंस निर्धारित करता है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। क्या निर्धारित लेंस अभिसारी है अथवा अपसारी ?

उत्तर ⇒कोई डॉक्टर +1.5 D क्षमता का संशोधक लेंस निर्धारित करता है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए। क्या निर्धारित लेंस अभिसारी है अथवा अपसारी ?

अतः लेंस अभिसारी है।


23. उस लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी क्षमता -2.0D है। यह किस प्रकार का लेंस है ?

उत्तर ⇒लेंस की क्षमता उस लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए जिसकी क्षमता -2.0D है। यह किस प्रकार का लेंस है ?

अतः ऋणात्मक (-ve) चिन्ह बताता है कि यह अवतल लेंस है।


24. हीरे का अपवर्तनांक 2.42 है। इस कथन का क्या अभिप्राय है ?

उत्तर ⇒ हमें पता है कि हीरे का अपवर्तनांक सबसे अधिक है। इसलिए इसका प्रकाशित घनत्व भी सबसे अधिक होगा।

जैसे –हीरे का अपवर्तनांक 2.42 है। इस कथन का क्या अभिप्राय है ?

यदि n का मान अधिक है तो v का मान कम होगा। इसलिए हीरे में प्रकाश की गति सबसे कम है।


25. प्रकाश वायु से 1.50 अपवर्तनांक की काँच की प्लेट में प्रवेश करता है। काँच में प्रकाश की चाल कितनी है ? निर्वात में प्रकाश की चाल 3×10⁸  m/s है।

उत्तर ⇒अपवर्तनांक, n = 1.5
काँच की प्लेट में प्रकाश की चाल v = ?
निर्वात में प्रकाश की चाल, C = 3 x 10⁸  m/s

प्रकाश वायु से 1.50 अपवर्तनांक की काँच की प्लेट में प्रवेश करता है। काँच में प्रकाश की चाल कितनी है ? निर्वात में प्रकाश की चाल 3x10⁸  m/s है।


26. आपको किरोसिन, तारपीन का तेल तथा जल दिए गए हैं इनमें से किसमें प्रकाश सबसे अधिक तीव्र गति से चलता है ? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर ⇒किरोसिन का अपवर्तनांक = 1.44
तारपीन के तेल का अपवर्तनांक = 1.47
जल का अपवर्तनांक =1.33
अतः प्रकाश उस माध्यम में तेजी से चलेगा जिसमें उसका अपवर्तनांक सबसे कम होगा और इन तीनों में से जल का अपवर्तनांक सबसे कम है, इसलिए प्रकाश जल में सबसे अधिक तीव्र गति से चलेगा।


27. वायु में गमन करती प्रकाश की एक किरण जल में तिरछी प्रवेश करती है। क्या प्रकाश किरण अभिलंब की ओर झुकेगी अथवा अभिलंब से दूर हटेगी? बताइए क्यों ?

उत्तर ⇒ जब कोई प्रकाश किरण वायु से जल में प्रवेश करती है तो यह अभिलम्ब की ओर झुकती है। यह इसलिए होता है क्योंकि वायु विरल तथा जल सघन माध्यम है। विरल माध्यम में प्रकाश की चाल सघन माध्यम की अपेक्षा अधिक होती हैं।


28. प्रकाश का विक्षेपण किसे कहते हैं ?

उत्तर ⇒ जब काँच की प्रिज्म से प्रकाश का पुंज गुजारा जाए तो यह सात रंगों में बंट जाता है जिसे प्रकाश का विक्षेपण कहते हैं। इन सात रंगों को बैंगनी (Violet), हल्के नीला (Indigo), नीला (Blue), हरा (Green), पीला (Yellow), संतरी (Orange) और लाल (Red) वर्ण क्रम में व्यवस्था प्राप्त होती है। ये सभी रंग अलग-अलग कोण पर मुड़ते हैं। लाल रंग सबसे कम मुड़ता है और बैंगनी सबसे अधिक। वर्णक्रम को VIBGYOR के द्वारा याद रखा जा सकता है। प्रकाश का विक्षेपण प्रकाश के अपवर्तन के कारण होता है।


29. एक उत्तल लेंस से 30 cm की दूरी पर रखी एक वस्तु का वास्तविक प्रतिबिंब लेंस से 20 cm की दूरी पर बनता है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए ?

उत्तर ⇒यहाँ, u = -30 cm, v = 20 cm

एक उत्तल लेंस से 30 cm की दूरी पर रखी एक वस्तु का वास्तविक प्रतिबिंब लेंस से 20 cm की दूरी पर बनता है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए ?

अतः लेंस की फोकस दूरी = 12 cm


30. एक उत्तल लेंस की फोकस दूरी 10 cm है। इससे 15 cm की दूरी पर एक वस्तु रखी हुई है। प्रतिबिंब की स्थिति और प्रकृति बताईए ?

उत्तर ⇒यहाँ, ƒ = 10 cm, u = -15 cm

एक उत्तल लेंस से 30 cm की दूरी पर रखी एक वस्तु का वास्तविक प्रतिबिंब लेंस से 20 cm की दूरी पर बनता है। लेंस की फोकस दूरी ज्ञात कीजिए ?

अतः प्रतिबिंब लेंस से 30 cm की दूरी पर दायीं ओर बनता है और वास्तविक है।


prakash ka pravartan tatha apvartan class 10th numerical

31. आप उत्तल लेंस तथा अवतल लेंस की पहचान बिना स्पर्श किए कैसे करेंगे ?

उत्तर ⇒ हम दोनों हो लेंस के नजदीक वस्तु को ले जाएंगे –

(i) यदि प्रतिबिंब अपने वास्तविक आकार से बड़ा दिखाई पड़े तो वह वस्तु उत्तल लेंस होती है |

(ii) यदि प्रतिबिंब हमेशा छोटा दिखाई पड़े तो वह वस्तु अवतल लेंस होती है |


32. उत्तल लेंस के सामने वस्तु कहाँ रखा जाए कि उसका काल्पनिक और बड़ा प्रतिबिंब प्राप्त हो। इसे किरण आरेख द्वारा दर्शाइए ?

उत्तर ⇒वस्तु को लेंस तथा .फोकस के बीच रखा जाएगा। किरण आरेख के लिए सारांश देखें।


33. एक उत्तल लेंस की फोकस दूरी 25 cm है। लेंस की क्षमता (शक्ति) ज्ञात कीजिए ?

उत्तर ⇒

अतः लेंस की क्षमता = 4 डाइऑप्टर


34. हमारे दैनिक जीवन में प्रकाश के अपवर्तन के तीन उदाहरण दीजिए ?

उत्तर ⇒हमारे दैनिक जीवन में प्रकाश के अपवर्तन के तीन उदाहरण निम्नलिखित हैं-
I. जल में आंशिक तिरछी डूबी हुई छड़ी सतह पर मुड़ी हुई नजर आती है।
II. पानी से भरी बाल्टी की गहराई वास्तविक गहराई से कम प्रतीत होती है।
III. मरूभूमि में मरीचिका (एक धोखे की वस्तु या प्रकाशीय भ्रम) का नज़र आना।


35. उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस क्यों कहा जाता है ?

उत्तर ⇒ मुख्य-अक्ष के समांतर एवं निकट आपतित किरणों को अपवर्तन के बाद उत्तल लेंस मुख्य-अक्ष के एक बिन्दु पर अभिसरित (एकत्रित) करता है। यही कारण है कि उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस कहा जाता है।


36. अवतल लेंस को अपसारी लेंस क्यों कहा जाता है ?

उत्तर ⇒ मुख्य-अक्ष के समांतर एवं निकट आपतित किरणों को अपवर्तन के बाद अवतल लेंस मुख्य-अक्ष के एक बिंदु से अपसारित (फैलाती) करती है। यही कारण है कि अवतल लेंस को अपसारी लेंस कहते हैं।


37. उस लेंस का नाम बताइए जो प्रकाश की किरण को
(i)अभिसारित करता है। (ii) अपसरित करता है।

उत्तर ⇒(i)उत्तल लेंस ,(ii) अवतल लेंस।


38. लेंस के प्रकाशीय केन्द्र एवं फोकस दूरी को परिभाषित करें ?

उत्तर ⇒प्रकाशीय केन्द्र : किसी लेंस के मध्य बिंदु को प्रकाशीय केंद्र कहा जाता है| इसे O द्वारा सूचित किया जाता है |

फोकस दूरी (फोकसांतर ): लेंस के प्रकाशीय केन्द्र और मुख्य फोकस के बीच की दूरी को फोकस दूरी कहते हैं।इसे f द्वारा सूचित किया जाता है |


39. एक लेंस की शक्ति +1.5 D है। फोकस दूरी ज्ञात कीजिए ?

उत्तर ⇒लेंस की शक्ति (P) = +1.5D, फोकस दूरी (ƒ) = ?


40. पानी में डूबी हुई पेंसिल मुड़ी हुई क्यों दिखाई पड़ती है क्यों ?पानी में रखा सिक्का उठा हुआ दिखता है, क्यों ?

उत्तर ⇒
प्रकाश के अपवर्तन के कारण पानी में डूबी हुई पेंसिल मुड़ी हुई दिखाई पड़ती है,क्योंकि पानी से प्रकाश हमेशा हमारी आंखों (हवा) में आने पर मूर्ती है | लेकिन हम वस्तु को सीधे प्रकाश में देखते हैं जो वस्तु की आभासी या मुड़ी हुई स्थिति होती है


41. पार्श्विक विस्थापन से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ जब किसी आयताकार कांच के स्लैब से प्रकाश का अपवर्तन कराया जाता है तब आपतित किरण तथा निर्गत किरण के लाम्बिक दूरी को पार्श्विक विस्थापन कहा जाता है | 


 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!